Home » मध्यप्रदेश » भोपाल » अरेरा कॉलोनी, भोपाल देह व्यापार के फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित

अरेरा कॉलोनी, भोपाल देह व्यापार के फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित

देह व्यापार के आरोपी मामा-भांजे ने किया खुलासा, कई रसूखदार से था संपर्क

अरेरा कॉलोनी, भोपाल देह व्यापार के फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित
अरेरा कॉलोनी, भोपाल देह व्यापार के फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित
2 से 5 हजार में होता था एक रात का सौदा
भोपाल-साइबर पुलिस द्वारा अरेरा कॉलोनी में चल रहे देह व्यापार गिरोह का भांडा फोड़ कर तीन दिन की रिमांड पर लिये गए आरोपी मामा भांजे दिनेश और सुरेश ने कई चौकाने वाले खुलासे किये हैं। वहीं पुलिस ने गिरोह फरार सरगना की गिरफ्तारी पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।
अपराध शाखा के पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान के अनुसार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि अरेरा कॉलोनी से देह व्यापार का संचालन करीब एक साल से किया जा रहा था। जहां आस पास में रहने वाले कई रसूखदारों सहित प्रदेश भर के कई सफेदपोश लोग उनके ग्राहक थे। इन लोगों की मांग अनुसार लड़कियां फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष मुहैया कराता था। सभी नामचीन लोग आरोपी वीर के ही संपर्क में रहते थे। इन नामों की सूची को वह अपने लेपटॉप में रखता था। दिनेश और रमेश ने पूछताछ में बताया कि आरोपी वीर गिरोह का मास्टर माइंड था। भोपाल और आस पास के कई जिलो के आलीशान होटलों में उसकी की सांठ-गांठ है। जहां से मांग अनुसार लड़कियां पहुंचाता था। लड़कियों की कीमत उनकी उम्र और खूबसूरती के हिसाब से तय की जाती थी। कम उम्र की लड़कियों के पांच हजार रूपये तक वसूले जाते थे, जबकि कम खूबसूरत और महिलाओं के 2 से 3 हजार रूपये तक वसूले जाते थे।
पुलिस सूत्रो के अनुसार जांच में सामने आया कि आरोपी वीर पूर्व में एक तीन सितारा होटल का प्रबंधक भी रहा है। यहीं से ग्राहकों को गुपचुप तरीके से उसने लड़कियां सप्लाई करना शुरू की थीं। इसके बाद उसने नौकरी छोड़कर इसी काम को अपना पेशा बना लिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि फरार आरोपी वीर उर्फ सुभाष की गिरफ्तारी के लिए दो टीमें लगातार उसके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया है।
भाजपा नेता भी गया जेल
देहव्यापार के मामले में पकड़ाया एक आरोपी नीरज शाक्य भाजपा में अनुसूचित जाति मोर्चा का प्रदेश मीडिया प्रभारी था। गिरफ्तारी के बाद पार्टी ने उसे निष्कासित कर दिया। पुलिस ने अन्य आरोपियों के साथ कोर्ट में पेश कर उसे भी जेल भेज दिया है।

Check Also

Profitable Farming, सफलता की कहानी - महिला स्व.सहायता समूह मध्यप्रदेश का पहला कस्टम हायरिंग सेंटर

Profitable Farming, सफलता की कहानी – महिला स्व.सहायता समूह मध्यप्रदेश का पहला कस्टम हायरिंग सेंटर

Profitable Farming, सफलता की कहानी कृषि यंत्रीकरण कृषि प्रोत्साहित करने के लिये राज्य सरकार द्वारा …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *