Home » मध्यप्रदेश » भोपाल » कुछ साल पहले झुग्गी में रहता था ये गोदाम प्रभारी, अब बन गया करोड़पति
कुछ साल पहले झुग्गी में रहता था ये गोदाम प्रभारी, अब बन गया करोड़पति

कुछ साल पहले झुग्गी में रहता था ये गोदाम प्रभारी, अब बन गया करोड़पति

भोपाल. मप्र स्टेट वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक काॅरपोरेशन में 25 हजार रुपए का वेतन पाने वाला गोदाम प्रभारी दिनेश चौरसिया पांच करोड़ की प्रॉपर्टी का मालिक निकला। लोकायुक्त टीम ने शुक्रवार को चौरसिया के सी सेक्टर, सर्वधर्म की सूर्या कॉलाेनी स्थित मकान पर छापा मारा। छापे में खेती की जमीन, प्लाॅट्स, मकानों और कई फ्लैट के कागजात मिले हैं। चौरसिया की पत्नी के नाम से संचालित एक कंस्ट्रक्शन कंपनी ने कृष्णा अपार्टमेंट में 24 फ्लैट भी तैयार किए हैं। उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति हासिल करने का मामला दर्ज किया गया है।

मूलत: नागरिक आपूर्ति निगम का कर्मचारी चौरसिया इस समय वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक कॉरपोरेशन, ओबैदुल्लागंज में पदस्थ है। उसने 26 साल पहले बतौर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी निगम में नौकरी शुरू की थी। वह कुछ साल पहले तक बाणगंगा झुग्गी बस्ती में रहता था। लोकायुक्त पुलिस को जानकारी मिली थी कि चौरसिया ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है। शुक्रवार सुबह पांच बजे लोकायुक्त टीम ने उसके घर छापा मारा।

झुग्गी में रहने वाला चपरासी बना रियल एस्टेट कारोबारी

कुछ साल पहले तक राजधानी के रोशनपुरा इलाके में बाणगंगा की झुग्गी बस्ती में रहने वाला चपरासी दिनेश चौरसिया नागरिक आपूर्ति निगम से प्रतिनियुक्ति पर मप्र वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक काॅरपोरेशन में आकर करोड़पति हो गया। चौरसिया के पिता आज भी बाणगंगा की झुग्गी में रहते हैं। चौरसिया ने करीब पांच साल पहले पत्नी के नाम से रियल एस्टेट का काम शुरू किया। इसके बाद उसकी प्रॉपर्टी में लगातार इजाफा होता चला गया।

सर्वधर्म में चौरसिया के घर के आसपास रहने वाले भी उसकी शान-शौकत से हैरत में थे। शुक्रवार को जब लोकायुक्त पुलिस की टीम चौरसिया के घर पहुंची तो उसकी पासबुक और प्रॉपर्टी के दस्तावेज ढूंढते-ढूंढते शाम हो गई। लोकायुक्त के इंस्पेक्टर वीके सिंह ने बताया कि चौरसिया के घर का सामान देखकर कोई नहीं कह सकता कि तृतीय वर्ग कर्मचारी है। उसकी नियुक्ति चपरासी के पद पर हुई थी।

आईआईटी दिल्ली मे पढ़ रहा है बेटा : चौरसिया का बेटा नितिन दिल्ली से आईआईटी कर रहा है। जबकि बेटी एक्सीलेंस कॉलेज में बीकाॅम सेकंड ईयर की छात्रा है।

विभाग को भेजेंगे जानकारी: इंस्पेक्टर सिंह ने बताया कि लाॅजिस्टिक काॅरपोरेशन को चौरसिया की आय से अधिक संपत्ति की जानकारी भेजी जाएगी। काॅरपोरेशन इस बात की जांच करेगा कि चौरसिया ने किन-किन कामों में गड़बड़ी कर यह प्राॅपर्टी हासिल की। सिंह ने बताया कि चौरसिया का काम ओबैदुल्लागंज के पास रेहटी में बने एक गोदाम की देखरेख करना था।

यह मिला छापे के दौरान

> 1.60 लाख रुपए नकद
> 8 लाख रु. कीमत केे जेवर
> सूर्या काॅलोनी में 7000 वर्ग फीट का मकान
> सी सेक्टर सर्वधर्म कॉलोनी में मकान व दुकान
> ए सेक्टर सर्वधर्म में एक मकान आैर दुकान
> निर्मला देवी रोड, अकबरपुर में मकान व दुकान
> सेमरीकलां, कोलार रोड पर 2.45 एकड़ कृषि भूमि
> बंजारी में 11000 वर्ग फीट का प्लाॅट
> सत्यम शिवम परिसर में दो फ्लैट
> कृष्णा अपार्टमेंट, ललिता नगर में 24 फ्लैट
> 10 बैंक खातों की पासबु

Source www.dainikbhaskar.com

Check Also

भोपाल - पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न

भोपाल – पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न

भोपाल – कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज मुख्य कार्यपालन अधिकारी पंचायत श्री हरजिन्दर सिंह की अध्यक्षता …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *