Home » तस्वीरें » यूको बैंक में दिनदाहड़े लूट के आरोपी, टीटी नगर सुलभ कॉम्पलेक्स से पकड़ाये

यूको बैंक में दिनदाहड़े लूट के आरोपी, टीटी नगर सुलभ कॉम्पलेक्स से पकड़ाये

भोपाल। राजधानी में बुधवार को यूको बैंक में दिनदाहड़े हुई लूट के आरोपी 24 घंटे के अंदर पकड़े गए। पुलिस ने इन आरोपियों को टीटी नगर इलाके के सुलभ शौचालय से पकड़ा । दोनों वहां नहा रहे थे और दिल्ली भागने वाले थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से बैंक से लूटी गई रकम में से करीब 25 हजार रुपए की राशि छोड़कर शेष रुपए जप्त कर लिए गए हैं।

यूको बैंक में दिनदाहड़े लूट के आरोपी, टीटी नगर सुलभ कॉम्पलेक्स से पकड़ाये
यूको बैंक में दिनदाहड़े लूट के आरोपी, टीटी नगर सुलभ कॉम्पलेक्स से पकड़ाये

डीआईजी रमन सिंह सिकरवार ने यूको बैंक लूट के आरोपियों के पकड़े जाने के बाद पत्रकारों को बताया कि बुधवार को दिनदहाड़े बागमुगालिया स्थित यूको बैंक की शाखा में नकली बदूंक के सहारे 5.72 लाख रुपए लूटकर भागने वाले दोनों बदमाश को आज एक युवक ने डिपो चौराहे पर देखा था। उसने तत्काल पुलिस को सूचना दी कि दो लड़के सुलभ शौचालय में नहा रहे हैं, उनके पास काफी पैसा है और वे दिल्ली भागने की तैयारी कर रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और सुलभ शौचालय की घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। दोनों के पास से एक अटैची और बैग मिला, जिसमें 4 लाख 84 हजार 715 रुपए और एयरगन भी बरामद की गई। इन नोटों पर यूको बैंक की पर्ची लगी हुई थी। डीआईजी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के नाम अजय जाट और आशीष उर्फ आकाश पंथी है। वह अजय मेरठ निवासी हैं। वह भोपाल में भदभदा रोड स्थित सीएसडी कॉलोनी में रह रहा था। वहीं आशीष पीएंडटी कॉलोनी में रहता है
उल्लेखनीय है कि बागमुगालिया में कटारा हिल्स रोड पर अरविंद विहार स्थित यूको बैंक शाखा में बुधवार को घुसे दो नकाबपोश बदमाश दिनदहाड़े 5.72 लाख रुपए लूट ले गए थे। दोनों की पीठ पर बैग टंगे थे और हाथ में नकली गन थी। वारदात के वक्त बैंक में चार महिला और एक पुरुष कर्मचारी थे। बदमाशों ने बदूंक दिखाकर सभी को वॉशरूम में बंधक बना लिया। पैदल आए बदमाशों ने करीब पांच मिनट में पूरी वारदात को अंजाम दिया। बैंक में कोई सुरक्षा कर्र्मी भी नहीं था।
पहले भी कर चुका है लूट
डीआईजी श्री सिकरवार ने बताया कि आरोपी अजय जाट इससे पहले भी नकली बदूंक से लूट को अंजाम दे चुका है। 4 साल पहले उसने राजधानी के आरआरएल तिराहे पर स्थित आंध्रा बैंक में भी लूट की थी। वहां से उसने अपने साथी देवेंद्र पटेल के साथ मिलकर 14 लाख रुपए लूटे थे। अजय कुछ दिनों पहले ही जेल से बाहर आया है। जबकि उसका साथी देवेंद्र अभी भी जेल में है। दूसरा आरोपी आशीष पंथी के खिलाफ भी आर्म्स एक्ट, हत्या करने के प्रयास के आरोप का मामला दर्ज है।
जेल में हुई दोस्ती
डीआईजी ने बताया कि अजय की जेल में ही गोविंदपुरा के एक हत्या के प्रयास के मामले में बंद आशीष उर्फ आकाश पंथी से दोस्ती हुई थी। जेल से बाहर आने पर इन लोगों ने बैंक लूट की योजना बनाई और यूको बैंक की होशंगाबाद रोड स्थित शाखा में करीब एक सप्ताह तक रैकी की। इन लोगों को पता था कि बैंक में महिला कर्मचारी ज्यादा हैं तो यहां वारदात करना आसान होगा। इसीलिए अजय सिंह और आशीष उर्फ आकाश ने मिलकर बुधवार की शाम को बैंक में वारदात को अंजाम दिया।

Check Also

भोपाल- भारतीय जूनियर हॉकी टीम खिलाड़ी खुशबू को मिलेगा पक्का आशियाना

जहांगीराबाद मोहल्ले में रहने वाली भारतीय जूनियर हॉकी टीम में गोल कीपर सुश्री खुशबू को …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

4 + nineteen =