Home » समाचार » शराब की अवैध बिक्री और उत्पादन को सख्ती से रोके आबकारी अमला

शराब की अवैध बिक्री और उत्पादन को सख्ती से रोके आबकारी अमला

लोकसभा चुनाव संचालन के प्रशिक्षण में जिला आबकारी अधिकारियों को शराब की अवैध बिक्री, वितरण और उत्पादन पर सख्ती से रोक लगाने के निर्देश दिये गये हैं। शराब के अवैध उत्पादन को रोकने के साथ ही मतदाताओं को प्रलोभन के लिये वितरित की जाने वाली शराब को भी रोका जाना चाहिये। यह निर्देश प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्री अश्विनी कुमार राय ने आज आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में जिला आबकारी अधिकारियों के एक-दिवसीय प्रशिक्षण में दिये। प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कांता राव, प्रशिक्षण प्रेक्षक श्री डी.पी. तिवारी भी मौजूद थे।

श्री अश्विनी कुमार राय ने कहा कि आबकारी विभाग शराब की अवैध बिक्री, वितरण और उत्पादन को रोकने के लिये अपना सूचना-तंत्र मजबूत करे। चुनाव में बिना किसी प्रलोभन के प्रत्येक व्यक्ति को अपनी पसंद का उम्मीदवार चुनने का अधिकार है। मतदाताओं को प्रलोभन देकर परोसी जाने वाली शराब को रोकने में आबकारी अमले को अपनी दृढ़-इच्छाशक्ति का परिचय देना होगा। जिले में अवैध शराब की जब्ती के लिये छापा डालने से पूर्व जिला प्रशासन और पुलिस का सहयोग लिया जाये। आबकारी विभाग आगामी लोकसभा चुनाव में पूर्ण सजगता और सतर्कता के साथ अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन कर प्रजातंत्र को मजबूत करने में अपना योगदान करे। उन्होंने कहा कि शराब के अवैध वितरण एवं उत्पादन को रोकने के लिये स्थल पर तैयारियों के साथ पहुँचे। कच्ची शराब में प्रयुक्त होने वाले महुआ के वितरण और परिवहन पर भी विभागीय अमले को कार्रवाई करना चाहिये। हाट-बाजार में चोरी-छुपे बिकने वाली देशी-विदेशी शराब पर निगरानी रखें तथा पुलिस के साथ मौके पर पहुँचकर कार्रवाई करें।

श्री राय ने बताया कि पिछले वर्ष पाँच राज्य के विधानसभा चुनाव में शराब के अवैध वितरण आदि को रोकने में छत्तीसगढ़ द्वारा अपनाये गये नवाचारों को मध्यप्रदेश भी लागू करे। लोकसभा चुनाव में देश के समस्त राज्य शामिल रहेंगे, इसीलिये मध्यप्रदेश का कार्य अब और बेहतर होना चाहिये। भारत निर्वाचन आयोग ने स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव में बाधा उत्पन्न करने वाले बहुत से कारणों पर प्रभावी बंदिश लगाई है। शराब का अवैध वितरण, बिक्री, उत्पादन और परिवहन भी इसमें से एक है। शराब के अवैध वितरण आदि को रोकने में जैसी मुस्तैदी चुनाव के दौरान हो, वैसी आगे भी दिखनी चाहिये। श्री राय ने जिला आबकारी अधिकारियों की शंकाओं का समाधान भी किया।

श्री व्ही.एल. कांता राव ने जिलों में शराब की अवैध बिक्री आदि को रोकने में कार्रवाई को लेकर जिला कलेक्टर और पुलिस को आवश्यक निर्देश जारी करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में आबकारी अमले ने जिस निष्ठा और लगन से कार्य किया, वैसा आगामी चुनाव में भी हो। लोगों को यह विश्वास हो कि बिना भय, बाहुबल और कालेधन के स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराये जा रहे हैं। आबकारी अधिकारी अभी से शराब की अवैध बिक्री और वितरण को रोकने में सक्रिय हो जाये। उन्होंने बताया कि विधानसभा-2013 में सवा लाख लीटर अवैध शराब की जब्ती हुई थी, जिसका मूल्य लगभग 2 करोड़ 86 लाख रुपये था।

संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. बंसल ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव को निष्पक्ष एवं स्वतंत्र बनाने के लिये सभी एजेंसियों का सहयोग लिया जा रहा है। इसी सिलसिले में विगत 5 फरवरी से निरंतर प्रशिक्षण कार्यक्रम चल रहे हैं। चुनाव आयोग की मंशा के अनुरूप शराब के अवैध वितरण और उत्पादन पर रोक लगाने के भरसक प्रयत्न किये जा रहे हैं। इसके पूर्व श्री राय और श्री कांता राव ने दीप जलाकर प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अतिथियों का स्वागत सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री आर.एन. सिंह ने और संचालन उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सी.पी. निगम ने किया।

बाद के सत्रों में श्री एस.एस. बंसल और अपर आबकारी आयुक्त श्री डी.आर. जौहरी ने निर्वाचन व्यय पर निगरानी, पुलिस अधीक्षक साउथ भोपाल श्री अंशुमान सिंह ने अवैध शराब के नियंत्रण में पुलिस की भूमिका, अपर आबकारी आयुक्त श्री अमलोक सिंह छाबड़ा ने आदर्श आचरण संहिता, श्री डी.आर. जौहरी ने वेब पोर्टल पर प्रविष्टि, सहायक आबकारी आयुक्त श्री नरेश चौबे ने वैधता संबंधी विषयों पर प्रशिक्षण दिया।

Check Also

भोपाल - पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न

भोपाल – पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न

भोपाल – कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज मुख्य कार्यपालन अधिकारी पंचायत श्री हरजिन्दर सिंह की अध्यक्षता …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *