Home » समाचार » कार में दम घुटने से मासूम की मौत, दंपति की लापरवाही से हुआ हादसा
कार में दम घुटने से मासूम की मौत, दंपति की लापरवाही से हुआ हादसा
bhopal kid suffocates to death after getting locked nside a car in bhopal madhya pradesh

कार में दम घुटने से मासूम की मौत, दंपति की लापरवाही से हुआ हादसा

पुलिस को बताए बिना दफनाया, आज पोस्टमार्टम के लिए निकालेंगे शव
न्यू मार्केट में एक कपड़ा व्यापारी के ढाई साल के बेटे की शुक्रवार को कार में दम घुटने से मौत हो गई। बच्चा लगभग दो घंटे तक कार के अंदर बंद रहा। इस दौरान परिवार के किसी भी सदस्य का उसकी तरफ ध्यान नहीं गया। बाद में जब तलाश की गई तो वह कार के अंदर अचेत मिला। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजन ने पुलिस को बताए िबना शव को दफना दिया। इधर पुलिस ने बताया िक शनिवार को पोस्टमार्टम के लिए शव को कब्र से निकाला जाएगा।
न्यू मार्केट स्थित नवरंग साड़ी हाउस के संचालक दीपक नायक (जैन) शुक्रवार सुबह 10:30 बजे अपने माता-पिता, पत्नी बच्चों के साथ मंदिर गए थे। आधे घंटे बाद मंदिर से लौटकर दीपक अपने पिता कमल के साथ दुकान पर ही रुक गए। जबकि उनकी पत्नी और मां दुकान के ऊपर (दूसरे तल पर) बने घर चली गईं। लगभग दो घंटे बाद दीपक की पत्नी अपने छोटे बेटे अतिशय को ढूंढते हुए दुकान पहुंचीं। शेष |

अितशय जब दुकान पर भी नहीं मिला तो सभी ने उसकी तलाश शुरू की। इस दौरान पार्किंग में खड़ी दीपक की स्विफ्ट डिजायर कार में अगली सीट के नीचे अतिशय बेहोशी की हालत में मला। गाड़ी की चाबी कार के अंदर ही थी। डुप्लीकेट चाबी से गेट खोलकर अतिशय को बाहर निकाला गया। उसे पहले न्यू मार्केट स्थित रेनबो अस्पताल ले जाया गया। यहां डॉक्टरों ने कहा बच्चे की सांसें थम चुकी हैं। इसके बाद परिजन बच्चे को बंसल अस्पताल ले गए। यहां भी डॉक्टरों ने बच्चे को मृत बताया।

इसके बाद परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दिए बिना भदभदा विश्रामघाट पर अतिशय के शव को दफना दिया। शाम को टीटी नगर के सीएसपी आरडी भारद्वाज ने मृत बच्चे के दादा कमल जैन के बयान दर्ज किए। सीएसपी ने बताया कि इस मामले में अन्य लोगों के भी बयान लिए जाएंगे और जरूरत पड़ी तो बच्चे का शव निकालकर पोस्टमार्टम भी कराया जाएगा।
व्यापारी का ढाई साल का बेटा दो घंटे तक कार में बंद रहा, दम घुटने से मौत

कार के कांच पूरी तरह बंद रहने से बच्चे को ऑक्सीजन नहीं मिली। इस कारण 30 से 45 मिनट में ही बच्चा कार्डियो रेस्पिरेटरी अरेस्ट का शिकार हो गया होगा। यही उसकी मौत का कारण बना।
-डॉ. डीके वर्मा, पूर्व अधीक्षक, हमीदिया अस्पताल

Check Also

भोपाल- भारतीय जूनियर हॉकी टीम खिलाड़ी खुशबू को मिलेगा पक्का आशियाना

भोपाल- भारतीय जूनियर हॉकी टीम खिलाड़ी खुशबू को मिलेगा पक्का आशियाना

जहांगीराबाद मोहल्ले में रहने वाली भारतीय जूनियर हॉकी टीम में गोल कीपर सुश्री खुशबू को …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *